पूर्बी चंपारण ; मोतिहारी के ढाका में मुस्लिम शिक्षक ने छत्रा के साथ किया दुष्कर्म , आखिर क्या है सच्चाई आइए जानते है

Ticker

6/recent/ticker-posts

पूर्बी चंपारण ; मोतिहारी के ढाका में मुस्लिम शिक्षक ने छत्रा के साथ किया दुष्कर्म , आखिर क्या है सच्चाई आइए जानते है

पूर्वी चंपारण, जासं। जिले के ढाका थाना क्षेत्र के निजी स्कूल में एक छात्रा की इज्जत तार तार करने का मामला सामने आने के बाद पुलिस की सक्रियता बढ़ गई है। पुलिस ने पीडि़त छात्रा के बयान पर प्राथमिकी दर्ज करते हुए आरोपित की गिरफ्तारी के लिए ढाका व मोतिहारी स्थित उसके आवास एवं मोबाइल लोकेशन के आधार पर छापेमारी भी की। मगर, वह पुलिस के हाथ नहीं लग सका। पुलिस ने मामले में आरोपित निदेशक आबिद खान के ढाका के आजाद चौक स्थित आवास पर छापेमारी कर उसकी बहन को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।
 कहा जा रहा है कि आरोपित की बहन ने शुरू में उसे उकसाया। प्रशासन द्वारा सुरक्षा को लेकर विद्यालय में दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति कर दी गई है।

पुलिस ने पीडि़ता का न्यायालय में 164 का बयान दर्ज कराने के बाद मेडिकल कराने के लिए मोतिहारी सदर अस्पताल भेजा है। इस घटना से हिंदू संगठनों में उबाल है। वहीं सभी बहन की भूमिका पर सवाल उठा रहे।

दो साल से कर रहा गंदा काम

पीडि़ता ने पुलिस को दिए आवेदन में कहा है कि वह दसवीं की छात्रा है। वर्ष 2018 में उसने आठवें वर्ग में नामांकन लिया था। उस वक्त से आरोपित बहन के माध्यम से अपने कार्यालय में बुलाता था और अश्लील हरकत करता था। इसके बाद वह इस घटना से काफी भयभीत हो गई थी। इधर, पुलिस का कहना है कि मेडिकल जांच के बाद मामला स्पष्ट हो जाएगा। फरार आरोपित की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी अभियान जारी है। इधर, घटना को लेकर ढाका में तनाव की स्थिति बना हुई है। इस बीच विश्व हिंदू परिषद ने घटना की निंदा करते हुए आरोपित के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। विश्व हिन्दू परिषद् के बिहार झारखंड क्षेत्र के संपर्क प्रमुख अधिवक्ता अशोक कुमार श्रीवास्तव ने स्कूल के निदेशक के खिलाफ इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहे विडियो पर प्रशासन से अविलंब संज्ञान लेने की मांग की है। कहा है कि मामले को लेकर विहिप व बजरंगदल चम्पारण की सडकों पर उतरकर आंदोलन करेगा। ऐसे संस्थान के लाइसेंस को रद् करते हुए विद्यालय को सील करना चाहिए।


शिक्षा का मंदिर हुआ शर्मशार

इंटरनेट मीडिया के माध्यम से जब इस घटना की जानकारी लोगों को हुई तो एक बार फिर शिक्षा का मंदिर शर्मशार हो गया। आलम यह रहा कि इंटरनेट मीडिया पर पोस्ट को देखते ही लोगों में उबाल आ गया। लोग सड़कों पर उतर गए और आवागमन ठप करने के साथ ही विद्यालय में तोडफ़ोड़ भी करने लगे। हालांकि, पुलिस व प्रशासन ने मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए स्थिति को अपने नियंत्रण में ले लिया। वरना पहले से संवेदनशील इस इलाके में कानून व व्यवस्था की स्थिति उत्पन्न हो सकती थी। इलाके में अब भी यह घटना चर्चा का विषय बनी हुई है। जितनी मुंह उतनी बातें सामने आ रही है। इस मामले में पुलिस अधीक्षक नवीन चन्द्र झा की पहल भी काफी सराहनीय रही। उन्होंने इस मामले में त्वरित कार्रवाई का आदेश दिया। डीएसपी, सिकरहना शिवेन्द्र कुमार अनुभवी ने कहा कि मामले में प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की गई है। आरोपित की बहन को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। पुलिस टीम आरोपी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। शीघ्र वह सलाखों के अन्दर होगा।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां