The viral : दिल्ली में दुबारा नहीं लगेगा कोरोना लॉकडौन ,हेल्थ मनिस्टर सतेंद्र जैंन का बयान आया सामने,

Ticker

6/recent/ticker-posts

The viral : दिल्ली में दुबारा नहीं लगेगा कोरोना लॉकडौन ,हेल्थ मनिस्टर सतेंद्र जैंन का बयान आया सामने,

दिल्ली में क्या फिर से लॉकडाउन (Delhi Lockdown Speculation) लगने वाला है? राजधानी में लगातार बढ़ते कोरोनावायरस के केस और मंगलवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद लोगों के मन में यह सवाल या कहें डर बना हुआ है. इस संशय को खत्म करने के लिए दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain on Delhi Lockdown Speculation) ने मंगलवार को और फिर अब दोबारा दोहराया है कि दिल्ली फिर लॉकडाउन नहीं होगी. हां उन्होंने अरविंद केजरीवाल की तरह इसका इशारा जरूर दिया है कि कुछ जगहों-चीजों पर पाबंदी लगाई जा सकती है.

राजधानी के हेल्थ मिनिस्टर ने दोहराया कि कोई लॉकडाउन नहीं होगा लेकिन कुछ ज्यादा भीड़भाड़ वाले इलाकों पर कुछ स्थानीय प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं.

सत्येंद्र जैन बोले – दिल्ली में लॉकडाउन का लॉजिक नहीं

हेल्थ मिनिस्टर ने कहा, ‘दिल्ली में लॉकडाउन जैसी कोई चीज नहीं है, अगर कोई जगह है जहां भीड़भाड़ है तो लोकल पाबंदी वाली बात हो सकती है. लॉकडाउन बिल्कुल नहीं होगा. अभी लॉकडाउन की बिल्कुल आवश्यकता नहीं है. लॉकडाउन के अनुभव से जो सीखा उससे उसका अब कोई लॉजिक नहीं है.’

सीएम केजरीवाल के प्रस्तावों को अभी नहीं मिली है मंजूरी

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को उपराज्यपाल के पास कुछ प्रस्ताव भेजे थे. इन्हें फिलहाल मंजूरी नहीं मिली है, यह जानकारी भी सत्येंद्र जैन ने दी. केजरीवाल ने मंगलवार को केन्द्र से बाजार वाले इलाकों में लॉकडाउन लगाने का अधिकार मांगा था. इसी के साथ शादी समारोह में 200 की बजाय अब केवल 50 लोगों को ही शिरकत करने की अनुमति देने के संबंध में एक प्रस्ताव भेजा गया है.

उन्होंने कहा कि दीपावली उत्सव के दौरान देखा गया कि अनेक लोगों ने मास्क नहीं पहन रखा था और वे उचित दूरी के नियम का पालन नहीं कर रहे थे जिसकी वजह से कोरोना वायरस बहुत अधिक फैल गया। इससे पहले दिन में दिल्ली सरकार ने अपनी प्रेस विज्ञप्ति में 'लोकल लॉकडाउन' शब्द का इस्तेमाल किया था लेकिन बाद में इसे संशोधित कर 'बंद' कर दिया गया।

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार, केन्द्र और सभी एजेंसियां राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 की स्थिति को नियंत्रित करने के लिए दोगुना प्रयास कर रहे हैं। इस बीच, अथॉरिटीज ने अस्पतालों में आईसीयू बेड बढ़ाने, जांच की क्षमता बढ़ाकर एक से 1.2 लाख करने और ज्यादा जोखिम वाले स्थानों पर निगरानी टीमों की तैनाती समेत अन्य रणनीति तैयार की है।

छठ पूजा को लेकर निर्देश न मानने पर क्या एक्शन लिया जाएगा इसपर जैन ने कुछ साफ नहीं कहा. वह बोले कि दिल्ली में लोग कानून का पालन करने वाले हैं, सिर्फ पॉलिटिकल पार्टी ही ऐसा कर सकती हैं. वहीं नोएडा में दिल्ली से आने वालों की रैंडम सैंपलिंग पर जैन ने कहा, ‘उनको करने दीजिए, नोएडा में टेस्ट वैसे भी नहीं हो रहे हैं, इस बहाने टेस्ट शुरू करेंगे.’

ICMR कह रहा है कि प्लाज्मा थेरपी का कोई फायदा नहीं है, इस सवाल पर जैन ने कहा कि ICMR ने खुद AIIMS के साथ प्लाज्मा ट्रायल किया था और उनकी स्टडी पूरी नहीं हुई है, इसलिए ये कहना ठीक नहीं है. मेरी खुद की जान प्लाज्मा से बची है.


दिल्ली में उफान पर है कोरोना संक्रमण
दिल्ली में मंगलवार को 6,396 नए मामले 4,421 रिकवरी और 99 मौतें दर्ज की गई। इसके साथ ही, राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 4.95 लाख के पार पहुंच गई है। दिल्ली में कोरोना से अब तक 7,812 मरीजों की मौत हो चुकी है।

एनसीआर में एहतियात
राजधानी में बढ़ते मामलों को देखते हुए एनसीआर के अन्य शहरों ने भी ऐहतियाती कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। नोएडा प्रशासन ने DND फ्लाईओवर, चिल्ला बॉर्डर पर नोएडा जा रहे लोगों की रैंडम रैपिड टेस्टिंग की जा रही है।


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां