बिहार : पूर्बी चंपारण जिला बना भारत का गंदगी मुक्त जिला,मिला समान और पुरुस्कार

Ticker

6/recent/ticker-posts

बिहार : पूर्बी चंपारण जिला बना भारत का गंदगी मुक्त जिला,मिला समान और पुरुस्कार

पूर्वी चंपारण, जेएनएन। स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत पूर्वी चंपारण को जिला श्रेणी में गंदगी मुक्त भारत में उत्कृष्ट योगदान के लिए द्वितीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। स्वच्छता से जुड़े कार्य हेतु मंत्रालय द्वारा देश के सभी जिलों में पूर्वी चंपारण को द्वितीय पुरस्कार दिया गया है। पूर्वी चंपारण बिहार का यह पहला जिला है जिसे इस सम्मान से सम्मानित किया गया है।

बता दें कि दिनांक 8 अगस्त 2020 से 15 अगस्त 2020 तक की अवधि में जल शक्ति मंत्रालय भारत सरकार द्वारा स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत गंदगी मुक्त भारत अभियान का संचालन किया गया। इस अवधि में जिला के अधिकांश गांवों में प्रचार-प्रसार कर संदेश को दीवार में चित्रित कराया गया।

वहीं वैसे स्थल जहां सामुदायिक शौचालय की जरूरत थी वहां सामुदायिक शौचालय का निर्माण कराकर स्थानीय लोगों की कमेटी बनाकर इसे सौंपा गया। गांव के लोगों को स्वच्छता का संदेश दिया गया। इस अवधि में जिले के बेहतर कार्यों को विभाग की टीम ने सराहा। राष्ट्रीय स्तर पर कार्यों की समीक्षा के बाद जिले के उत्कृट कार्यों के लिए चयनित कर गांधी जयंती के दिन प्रशस्ति पत्रजारी किया गया।

इस बारे में पूर्वी चंपारण के जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक ने कहा कि इस प्रकार की सफलता से जिले का सम्मन बढ़ा है। इसके लिए जिले के लोग व इस क्षेत्र में काम कारने वाले लोग बधाई के पात्र हैं। चंपारण बापू की कर्मभूमि है। यहां से बापू का संदेश देश व विदेशों में जाता है। जिले को स्वच्छ बनाने में पूर्ववर्ती जिलाधिकारी रमण कुमार ने भी बेहतर कार्य किया था। जिले को स्वच्छ बनाने की दिशा में प्रयास और तेज करने का दिशा-निर्देश दिया गया है।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां