Ticker

6/recent/ticker-posts

हैपी बर्थडे हार्दिक पंड्या: करियर से लेकर निजी जीवन तक, क्या हुआ एक अच्छा और बुरा

हैपी बर्थडे हार्दिक पंड्या: करियर से लेकर निजी जीवन तक, भरपूर है उतार-चढ़ाव

Hardik Pandya Birthday: आज टीम इंडिया के ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या का जन्मदिन है। आईपीएल में मुंबई इंडियंस की टीम का हिस्सा हार्दिक आज 27 साल के हो गए हैं। आईपीएल में आज मुंबई का मुकाबला दिल्ली की टीम से है।

    
नई दिल्ली
आज यानी 11 अक्टूबर को भारतीय क्रिकेट टीम और मुंबई इंडियंस के ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या का 27वां जन्मदिन है। 11 अक्टूबर 1993 को हार्दिक का जन्म गुजरात के सूरत में हुआ था। अपनी आक्रामक बल्लेबाजी, दमदार गेंदबाजी और शानदार फील्डिंग के दम पर हार्दिक ने अपनी टीम को कई मैच जितवाए हैं। जनवरी साल 2016 में उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 मुकाबले से अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत की। इसी साल बांग्लादेश के खिलाफ वर्ल्ड टी20 में उन्होंने गेंदबाजी में तीन गेंद पर दो रन बचाकर कई लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा। अगले साल से वह सीमित ओवरों के प्रारूप में भारतीय टीम का अहम हिस्सा बन गए। 
hardik-pandya
हार्दिक पंड्या (टि्वटर)

बल्ले से दिखाया दम
साल 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एकदिवसीय मैच में जब भारतीय टीम का स्कोर पांच विकेट पर 87 रन था तब पंड्या ने 86 गेंद पर 83 रन बनाकर अपनी टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई। 8वें नंबर पर बैटिंग करने आए पंड्या ने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की खूब खबर ली। दो मैच बाद उन्होंने फिर 78 रन की मैच़ जिताऊ पारी खेली। 

टेस्ट करियर कैसा रहा
उनके टेस्ट करियर की शुरुआत भई अच्छी रही जब श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट डेब्यू में उन्होंने हाफ सेंचुरी लगाई। इसके बाद तीसरे और चौथे टेस्ट में 108 और 93 रन की पारियां खेलीं। हालांकि टेस्ट में वह गेंद से ज्यादा प्रभाव नहीं दिखा सके। 

चोट से रहे परेशान

इसके बाद पंड्या को चोटों ने काफी परेशान किया। पाकिस्तान के खिलाफ 2017 में चैंपियंस ट्रोफी के दौरान उन्हें स्ट्रेचर पर बाहर ले जाना पड़ा। ठीक होने के बाद वह दोबारा कमर की चोट से परेशान हुए। उन्होंने लंदन में सर्जरी भी करवाई। 

तंगहाली में गुजरा बचपन
हार्दिक ने इंटरव्यू में बताया था कि उनका बचपन लग्जरी नहीं था। उनके पिता ने बीमारी के चलते नौकरी छोड़ दी थी और इन दोनों भाइयों के पास किट खरीदने तक के पैसे नहीं होते थे। इतना ही नहीं कई बार वे सिर्फ नूडल्स के सहारे ही पूरा दिन काट लिया करते थे। 9वीं क्लास में फेल होने के बाद हार्दिक ने आगे पढ़ाई नहीं की और सिर्फ क्रिकेट पर ध्यान दिया। 

Post a Comment

0 Comments