sushant singh : नीता अंबानी और कंगना रनौत क्या बोली सुशांत केस के बाड़े में , जल्द आ सकता है न्यूज़ expr:class='data:blog.pageType'>

Ticker

6/recent/ticker-posts

sushant singh : नीता अंबानी और कंगना रनौत क्या बोली सुशांत केस के बाड़े में , जल्द आ सकता है न्यूज़

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या केस में सुप्रीम कोर्ट ने रिया चक्रवर्ती की याचिका को खारिज करते हुए सीबीआई को इस मामले की जांच करने की अनुमति दे दी है। साथ ही मुंबई पुलिस को तमाम दस्तावेज सीबीआई को सौंपने के आदेश दिए। कोर्ट ने इस मामले में बिहार में दर्ज एफआईआर को सही बताया है।
  नीता अंबानी का ट्वीट देख सकते है आप ।।
सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले पर महारष्ट्र सरकार ने इस फैसले को चुनौती देने को और रिव्यू पीटिशन दायर करने को कहा है। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आप पहले फैसले को पढ़िए, फिर रिव्यू पीटिशन दायर करने के बारे में सोचिए यह 35 पेज का जजमेंट है। पहले आप इस जजमेंट को पढ़िए, हमने हर पहलुओं का बारीकी से अध्ययन करने के बाद फैसला सुनाया है
।परमबीर सिंह ने गुरुवार को महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख से मुलाकात भी की।



मुंबई पहुंची सीबीआई की टीम को क्वारनटीन नहीं होगा। सीबीआई की टीम ने क्वारनटीन से छूट की मांग की थी, जिसे BMC ने स्वीकार कर लिया है। सीबीआई यहां पर मुंबई पुलिस से क्राइम सीन की तस्वीरें लेगी। जांच के लिए सीबीआई की एसआईटी टीम तकनीक, फोरेंसिक और समन्वय इकाई (TFC) की मदद लेगी। सुशांत के घर पर दोबारा क्राइम सीन क्रिएट किया जाएगा। सीबीआई इस मामले की जांच उस प्राथमिकी (FIR) के आधार पर करेगी, जो बिहार पुलिस ने दर्ज की है। सीबीआई की एसआईटी का नेतृत्व सीबीआई के जॉइंट डायरेक्टर मनोज शशिधर कर रहे हैं। उनके अलावा गगनदीप गंभीर, एसपी नूपुर प्रसाद और एडिशनल एसपी अनिल यादव इस टीम का हिस्सा हैं। ये सभी सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच करे
इससे पहले दिल्ली स्थित सीबीआई मुख्यालय में एसआईटी की बैठक हुई। आजतक को सीबीआई की बैठक के बारे में खास जानकारी मिली है। इस अहम बैठक में इस केस से जुड़ी भविष्य की कार्रवाई और सीबीआई की जांच की दिशा तय की गई है। यह मामला हत्या है या आत्महत्या? सीबीआई की टीम सबसे पहले यह स्थापित करने की कोशिश करेगी। सबसे पहले हत्या की आशंका से जुड़े तथ्यों, मौका-ए-वारदात की जांच और मौका-ए-वारदात की फोरेंसिक जांच की जाएगी।
 
सीबीआई की जांच बिहार पुलिस की एफआईआर पर आधारित होगी. सुशांत के पिता केके सिंह ने आत्महत्या के लिए उकसाने, धोखाधड़ी और साजिश रचने का मुकदमा दर्ज कराया था। उस एफआईआर में आईपीसी की धारा 341, 348, 380, 406, 420, 306 और 120बी शामिल हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ